0
Everyone want to wish Happy New Year 2016 in a different style to impress  someone or just for fun and also to express his feeling deeply, That's why we give you Happy New Year Poems In Hindi.
Let your beloved know that hoe much you mean to him/her.This lets collabrate with each other and have some fun together like a big happy family This year share this awesome happy new year hindi shayari to everyone.new year poems, happy new year poems images, images of poem,

Happy New Year 2016 Poem In Hindi

Happy New Year  2016 Poem in Hindi 

"नया साल आएगा एक और संकल्प"

"नया साल आएगा
फिर से
आशा की
नई किरणों को सजा कर।

इस बार
उन सुनहरी किरणों में
नव वर्ष की
शुरुआत
चलो मिल कर करें
एक बार फिर से।

दृढ संकल्प
शिक्षा का प्रचार करने का
गरीबी दूर भगाने का
बेरोज़गारी मिटाने का
समानता को धराताल पर लाने का
भाइचारे की भावना को
पुन: बीजारोपित करने का।

विश्वबंधुत्व को आत्मसात करने की
चेष्टा में
कदम से कदम मिलाकर
लक्ष्य पाने की दिशा में
प्रयत्नशील हों।

इन्हें
वास्तविकता में
लाने की
प्रतिज्ञा के साथ।"



"नववर्ष तुम लेकर आना"
नव उमंग नव तरंग नव उल्लास
तुम लेकर आना,
नयी आशा नया सवेरा नया विश्वास
तुम लेकर आना,
भूल जाएँ सब ज़ख्म पुराने
ऐसा मरहम तुम लेकर आना।
नव चेतना नव विस्तार नव संकल्प
तुम लेकर आना
विश्व शांति हरित क्रांति श्रम शक्ति
तुम ले कर आना,
प्रगति पथ प्रशस्त बने
ऐसा विकास तुम लेकर आना
नव सृजन, नव आनंद नवोदय
तुम लेकर आना।
आत्मबोध, आत्मज्ञान, आत्मविश्वास
तुम लेकर आना
दूर अँधेरे सब हो जाएँ
ऐसा सुप्रभात तुम लेकर आना।




जश्न नए साल का

जाम पे जाम कभी किसी के
कभी किसी के नाम
आज नए साल के नाम।
पुराने साल के अवसान का गम
या नए साल की खुशी
जाम पे जाम चलते रहें
आइटम नंबर होते रहें
मस्त-मस्त मदहोश हम होते रहें।

जश्न पे जश्न सच्चाई भुलाने के काम
नई आशाएँ नया साल लाता नहीं
हम देते हैं भुलावे अपने आप को
साल दर साल वही वादे वही इरादे
वही शांति वार्ताएँ वही झूठा मेल
वही नई तैयारियाँ युद्ध की
मुँह में राम बगल मे छुरी का
वही पुराना खेल

फिर नई आशाएँ नए साल की
नए इरादे हर साल की तरह
इस बार भी समय की नदिया में
फिसल कर खो न जाएँ
काग़ज़ की नावें नवल आशाएँ
डूब न जाएँ फिर कलयुग के
गहन सागर में सत्यधर्म के सपने
टूट बिखर न जाएँ झूठ की कगारों से
पकड़ पक्की रखनी होगी
सत्य मंत्र दोहराने होंगे प्रतिदिन
करना होगा सतत धर्मयुद्व
दुष्कर्मी जननेताओं से
जड़ धर्मनेताओं से
उजड्ड दुराचारी दादाओं से।
तब होगा सफल शुभ सप्तम वर्ष
इक्कीसवीं सदी का।



"ऐसा नया साल"

"अबकी आए ऐसा नया साल
हो जाए हर गाँव शहर खुशहाल

भइया के मुँह से फूटे संगीत
भौजी के कंगना से खनके ताल

आए रे आए ऐसा मधुमास
फूल खिलाए ठूंठ पेड़ के डाल

झूम-झूम के नाचे मगन किसान
इतना लदरे जौ गेहूँ के बाल

दिन सोना के चाँदी के हो रात
हर अंगना मे ऐसा होए कमाल

मस्ती मे सब गाए मिल के फाग
उड़े प्रेम का ऐसा रंग गुलाल

लौटे रे लौटे गाँवों मे गाँव
फिर से जमे ओ संझा का चौपाल"




"मंगलमय हो नव वर्ष"

"मंगलमय हो नव वर्ष तुम्हारा
प्राणों से बढ़कर यह क्षण है
नित नूतन मृदु साज मदन है
भावों के उर्मिल सागर में
बिंबित है छवि चित्र तुम्हारा
मंगलमय हो नव वर्ष तुम्हारा

उर सहकार सुघर पुष्पित हो
देह लता तब आलिंगित हो
गुँजे मधुकर के मधुरव में
हँसे हृदय का छंद तुम्हारा
मंगलमय हो नव वर्ष तुम्हारा

नई चेतना भाव अमर हों
नव उछाह का राग सुघर हो
जीवन के हर प्रात क्षितिज पर
उषा तिलक दे शीर्ष तुम्हारा
मंगलमय हो नव वर्ष तुम्हारा"




"नव वर्ष मुबारक"

"नव वर्ष, हथेलियाँ
ज़मीन पर टिकाए
सिर्फ़ सीटी बजने
की इंतज़ार में
पलों, दिनों, सप्ताहों,
महीनों के साथ
बाधा दौड़ में
कुलांचे भरने को
तैयार,
भूल गए, धूमिल
हो गए वो पल,
रेल हादसे, तूफ़ान
भूकंप के झटके
व अनेकों विपदाएँ
इक सैलाब भींचे
मुट्ठियाँ, आँखें मूँद कर
इसमें डूबने को आतुर
कहते हुए 'नव वर्ष
मुबारक हो।'
काश कि सबकी दुआ
कबूल हो, जी भर के
खुशियाँ आएँ, तरक्की हो,
मानवता की हर राह पर,
खुशहाल हो संपूर्ण विश्व
व इक पक्की-सी सरहद की
दीवार बन जाए विश्व व
विपदाओं के बीच, कि इक दूसरे
को ये कभी छू न सकें।"


Happy New Year Poem In Hindi collection

"ऐसा नया साल"

"अबकी आए ऐसा नया साल
हो जाए हर गाँव शहर खुशहाल

भइया के मुँह से फूटे संगीत
भौजी के कंगना से खनके ताल

आए रे आए ऐसा मधुमास
फूल खिलाए ठूंठ पेड़ के डाल

झूम-झूम के नाचे मगन किसान
इतना लदरे जौ गेहूँ के बाल

दिन सोना के चाँदी के हो रात
हर अंगना मे ऐसा होए कमाल

मस्ती मे सब गाए मिल के फाग
उड़े प्रेम का ऐसा रंग गुलाल

लौटे रे लौटे गाँवों मे गाँव
फिर से जमे ओ संझा का चौपाल"


"मंगलमय हो नव वर्ष"

"मंगलमय हो नव वर्ष तुम्हारा
प्राणों से बढ़कर यह क्षण है
नित नूतन मृदु साज मदन है
भावों के उर्मिल सागर में
बिंबित है छवि चित्र तुम्हारा
मंगलमय हो नव वर्ष तुम्हारा

उर सहकार सुघर पुष्पित हो
देह लता तब आलिंगित हो
गुँजे मधुकर के मधुरव में
हँसे हृदय का छंद तुम्हारा
मंगलमय हो नव वर्ष तुम्हारा

नई चेतना भाव अमर हों
नव उछाह का राग सुघर हो
जीवन के हर प्रात क्षितिज पर
उषा तिलक दे शीर्ष तुम्हारा
मंगलमय हो नव वर्ष तुम्हारा"



Hope you enjoy all of it. don't forget to share someone special, who mean so much in your life . these above Happy New Year Poems In Hindi 2016 are perfect example of express heart's feeling. So pleease share these awesome New Year Poems in Hindi on Whatsapp, Twitter, Facebook, Googlw+.

Incoming searches :- (Top) Happy New Year 2016 Poems  In Hindi
hindi kavita new year
happy new year 2015 song download
class of 2015 poems
new poetry 2015 in urdu
new poems
new year quotes
new year wishes

happy new year song

Post a Comment

 
Top